प्रवासी राजस्थानीयों में सर्वाधिक लोकप्रिय

उद्धव के बयान से बवाल बढ़ा, साईं जन्मभूमि शिरडी आज बंद

मुंबई।महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे साईबाबा के जन्म स्थान को लेकर उत्पन्न विवाद को सुलझाने के लिए बातचीत करेंगे। यह जानकारी शनिवार शाम को जारी आधिकारिक विज्ञप्ति में दी गई। यह घोषणा ऐसे समय की गई है जब शिरडी के स्थानीय नेताओं ने रविवार को इसके खिलाफ बंद का ऐलान किया है। शिरडी में ही साईबाबा का मंदिर है।

शिरडी के स्थानीय नेताओं ने जताई नाराजगी- गौरतलब है कि यह विवाद उस समय पैदा हुआ जब महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने परभणी जिले के पाथरी में साई बाबा जन्मस्थान पर सुविधाओं का विकास करने के लिए 100 करोड़ रुपए की राशि आवंटित करने की घोषणा की थी। शिरडी के स्थानीय लोगों एवं नेताओं ने पाथरी को साईबाबा का जन्म स्थान बताने पर आपत्ति दर्ज कराई और दावा किया कि उनका जन्मस्थान और उनका धर्म अज्ञात है।

मुख्यमंत्री कार्यालय की ओर से जारी बयान के मुताबिक इस मुद्दे को सुलझाने के लिए ठाकरे सभी संबंधित पक्षों के साथ राज्य सचिवालय में बैठक करेंगे।
साईं मंदिर खुला रहेगा-बता दें कि महाराष्ट्र के शिरडी में स्थानीय लोगों ने साईं बाबा के जन्म स्थान को लेकर शुरू हुआ विवाद बढ़ता जा रहा है। रात करीब 12 बजे से शिरडी शहर बंद कर दिया। हालांकि, साईं बाबा मंदिर के न्यासियों ने शनिवार को कहा कि बंद के बावजूद मंदिर खुला रहेगा।

शिरडी स्थित साईं मंदिर में देशभर के लाखों श्रद्धालु आते हैं। 100 करोड़ रुपए का आवंटन किया है। गौरतलब है कि साईं बाबा के कुछ भक्त उनका जन्म स्थान शिरडी को मानते हैं। शिरडी बाबा का कर्मस्थली रही है और उन्होंने देहत्यागी थी। जबकि कुछ लोग उनका जन्म स्थान शिरडी को नहीं बल्कि परभणी जिले के पाथरी में मानते है इसलिए उद्वव सरकार पाथरी के विकास के लिए 100 करोड़ रुपए आवंटित किए है।

Comments are closed.