प्रवासी राजस्थानीयों में सर्वाधिक लोकप्रिय

सरकार का पूरा फोकस विदेश में फंसे भारतीयों पर

नई दिल्ली प्रवासी मजदूरों के रजिस्ट्रेशन के लिए दिल्ली सरकार का वेब पोर्टल काम ही नहीं कर रहा है। दिल्ली सरकार द्वारा घर लौटने के इच्छुक प्रवासी मजदूरों के रजिस्ट्रेशन के लिए जो लिंक दिया गया है, वह खुल ही नहीं रहा है। 9 मई को जब जनसत्ता.कॉम ने इस बारे में जानकारी हासिल करनी चाही तो बिहार सरकार के हेल्पलाइन नंबर के जरिये पता चला कि ऐसा किसी तकनीकी दिक्कत के चलते है, जिसे दूर करने पर काम चल रहा है। यह भी बताया गया कि शनिवार रात तक पोर्टल काम करने लगेगा।

लेकिन, रविवार सुबह जब हमने चेक किया तो भी पोर्टल काम नहीं ही कर रहा था। जबकि, विदेश में फंसे जो लोग भारत लौटना चाह रहे हैं, उनके रजिस्ट्रेशन के लिए जो लिंक दिया गया है, वह सही काम कर रहा है।

रजिस्ट्रेशन में आने वाली मुश्किल और स्थानीय प्रशासन से मदद नहीं मिलने की कई मजदूरों की शिकायत के बाद शनिवार को पूरे दिन हमने कोशिश की कि दिल्ली में फंसे बिहार के मजदूरों के लिए बिहार सरकार क्या कर रही है, इस पर जानकारी ली जाए।


बिहार सरकार द्वारा नोडल अफसर नियुक्त किए गए प्रत्यय अमृत के दफ्तर कई बार फोन करने के बावजूद उनसे बात नहीं हो पाई। हर बार यही कहा गया, ‘साहब मीटिंग में हैं।Ó संदेश छोडऩे के बावजूद उनकी ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई।

Comments are closed.