प्रवासी राजस्थानीयों में सर्वाधिक लोकप्रिय

रैली का जनसैलाब दिल्ली के हुक्मरानों के लिए संदेश : सीएम गहलोत

नई दिल्ली। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने रामलीला मैदान में आयोजित भारत बचाओ रैली में केंद्र की मोदी सरकार को नाकाम करार दिया। रैली में आई भीड़ से उत्साहित मुख्यमंत्री गहलोत ने कहा कि 40 साल पहले इसी मैदान में इसी नाम से रैली हुई थी,उस वक्त वे एनएसयूआइ में जिला कांग्रेस अध्यक्ष थे और ऐसा ही माहौल व जनसैलाब देखा था। ये संदेश है दिल्ली में बैठे हुक्मरानों के लिए कि देश किस दिशा में जा रहा है। उन्होंने कहा कि लोकतंत्र की हत्या की जा रही है, हिंसा, अविश्वास का माहौल है और सामाजिक ताना-बाना नष्ट हो गया है।

मुख्यमंत्री गहलोत ने राहुल गांधी की सराहना करते हुए कहा कि चुनाव हारना अलग बात है, लेकिन राहुल हमेशा मुद्दों पर आधारित राजनीति करते हंै। राहुल गांधी की ओर से उठाए गए मुद्दों पर आजतक केंद्र जवाब नहीं दे पाया। मुद्दे आज भी जीवित हैं। देश आज भी जानना चाहता है कि राफेल विमान की कीमत इतनी कैसे बढ़ गई और संख्या क्यों घटाई गई। उन्होंने कहा कि कांग्रेस को भाजपा से राष्ट्रवाद का प्रमाण नहीं चाहिए क्योंकि कभी सेना के पीछे छुपकर राजनीति नहीं की। इंदिरा गांधी ने विश्व के भूगोल का नक्शा बदल कर बांग्लादेश का निर्माण कर दिया, लेकिन ऐसी राजनीति नहीं की। उन्होंने महाराष्ट्र की घटना का जिक्र करते हुए कहा कि देश में ऐसे हालात हैं कि ‘राजा बोला रात है, मंत्री बोला रात है, संतरी भी बोला रात है और ये सुबह-सुबह की बात हैÓ।


रैली का संदेश शहर से ढाणी तक पहुंचाएं : पायलट
रामलीला मैदान में राजस्थान के अच्छे प्रतिनिधित्व से उत्साहित उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने कहा कि केंद्र की कुनीतियों का परिणाम आज हर वर्ग को भुगतना पड़ रहा है। इस रैली से जो संदेश मिला है, उसे प्रदेश के हर शहर, गांव, पंचायत व हर ढाणी तक पहुंचाएं। उन्होंने कहा कि देश में युवाओं को भी अब एहसास हो रहा है कि भाजपा ने उनको बुरी तरह छला है। नौजवान, किसान और मजदूर बदहाल स्थिति में चले गए हैं। मूल मुद्दों से ध्यान भटकाने के लिए आपस में लोगों को लड़ाया जा रहा है। इसके बाद ‘राम राम सा’ के साथ पायलट ने अपना संबोधन समाप्त किया।

Comments are closed.