प्रवासी राजस्थानीयों में सर्वाधिक लोकप्रिय

जयपुर से 10 शहरों के लिए 15 उड़ानें शुरु

गहलोत बोले-हेल्थ प्रोटोकॉल का पालन हो

जयपुर. राजस्थान में सोमवार से विमान और बस सेवाएं शुरू हुई हैं। ऐसे में बाहरी राज्यों से आने वाले लोगों से कोरोना संक्रमण रोकना बड़ी चुनौती है। इसे देखते हुए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अधिकारियों के साथ उच्च स्तरीय समीक्षा बैठक में स्पष्ट निर्देश दिए कि हेल्थ प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन कराया जाए। साथ ही कहा कि बाहरी राज्यों से आने वाले सभी प्रवासियों को अनिवार्य रूप से 14 दिनों के लिए क्वारेंटाइन किया जाए। हालांकि, केंद्र ने दूसरे राज्य में जाने वाले यात्रियों के लिए क्वारेंटाइन नियम में छूट दी है।

मगर पिछले दिनों राजस्थान में बाहर से आए 10 लाख से अधिक प्रवासियों में लगभग 1600 संक्रमित मिले हैं। इसी वजह से सीएम ने ऐसे निर्देश दिए। बता दें कि जयपुर से 10 शहरों के लिए सोमवार से 15 उड़ानें शुरू हो रही हैं। मुंबई-पुणे और कोलकाता की उड़ानें अभी उपलब्ध नहीं होंगी।

प्रदेश के 55 रूट पर बसें भी दौडऩे लगेंगी। ेसीएम गहलोत ने कहा कि लोगों की सहूलियत के लिए राज्य सरकार होम क्वारेंटाइन को प्राथमिकता दे रही है। फ्लाइट से आने वालों को भी होम क्वारेंटाइन करेंगे। लेकिन होम क्वारेंंटाइन की सुविधा न होने पर संस्थागत क्वारेंंटाइन की व्यवस्था की गई है। सीएम ने सभी आगंतुकों से अपील की है कि वे ई-मित्र पोर्टल पर ऑनलाइन पंजीकरण करवाकर पूरी जानकारी दें।

देश में सोमवार से 28 राज्यों के लिए 33त्न उड़ानें शुरू होंगी। करीब 800 फ्लाइट्स में 12 हजार लोग सफर कर सकते हैं। महाराष्ट्र व तमिलनाडु भी संचालन को तैयार हो गए हैं, वहीं प. बंगाल में 28 मई से उड़ानें शुरू होंगी।सीएम गहलोत ने कहा कि अस्थि विसर्जन के लिए राज्य सरकार ने मोक्ष कलश स्पेशल निशुल्क बस सेवा शुरू की है। पहली बस सोमवार को जाएगी। एक कलश के साथ दो लोग जा सकेंगे। पोर्टल पर पंजीयन करवाना होगा।

Comments are closed.